राधे माँ का नाम सुनकर लोगो के चेहरे पर मुकुराहत आजाती है,साधू बाबाओं का नाम तो सूना जाता था पहली बार किसी माँ के बारे में उस समय सूना गया था जब उनके कुछ भक्तों ने उन पर यौन शोषण करने का आरोप लगाया था।

राधे माँ का पहनावा

राधे माँ अपने विशेष पहनावे की वजह से चर्चाओं में रहती हैं,भड़कीले दुल्हन की तरह सजी धजी रहने वाली माँ खूब बनाओ श्रंगार करके रहती हैं,जिस वजह से लोग कहते हैं ये कैसी माँ साध्वी हैं जो त्याग नही करती हैं और भड़काऊ पहनावा पहनती हैं।

अखाड़ा परिषद ने राधे माँ को बताया फ़र्ज़ी

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने इलाहाबाद में अपनी कार्यकारिणी की बैठक में 14 बाबाओं की लिस्ट जारी की। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद में देश के सभी 13 अखाड़े शामिल हैं, जिसमें लाखों की संख्या में साधु-संत हैं।

इस लिस्ट में आसाराम उर्फ आशुमल शिरमानी, सुखविंदर कौर उर्फ राधे मां सचिदानंद गिरी उर्फ सचिन दत्ता, गुरमीत राम रहीम ( डेरा सच्चा सिरसा, ओम बाबा उर्फ विवेकानंद झा, निर्मल बाबा उर्फ निर्मलजीत सिंह, इच्छाधारी भीमानंद उर्फ शिवमूर्ति द्विवेदी, स्वामी असीमानंद, ऊं नम: शिवाय बाबा, नारायण साईं, रामपाल समेत 14 नाम शामिल हैं।

Facebook Comments
SHARE