नई दिल्ली:हर मुद्दे पर बेबाक राय देने वाले ऑल इण्डिया मजलिस ऐ इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवँम हैदराबाद से सांसद बैरिस्टर असदुद्दीन ओवैसी ने सुप्रीम कोर्ट के सिनेमा हॉल में राष्ट्रगाने के फैसले का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान के वक्त लोगों को खड़े होने के लिए मजबूर नहीं किए जाने के फैसले का मैं स्वागत करता हूं।

बहतरीन और बेबाक वाले ओवैसी ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में सभी पक्षों को ध्यान में रखा है। कोई मनोरंजन के उद्देश्य से सिनेमा हॉल जाता है। ऐसे में किसी शख्स को राष्ट्रगान के वक्त जबरन खड़ा करना या इसके लिए किसी को प्रताड़ित करना सही बात नहीं है। अगर कोई विशेष अवसर हो जैसे स्वतंत्रता दिवस या गणतंत्र दिवस तो लोग स्वेच्छा से ही राष्ट्रगान के वक्त खड़े हो जाते हैं।’
किसी की देश भक्ति सिनेमा हाल में पता नही लगा सकते

लोकसभा सांसद ओवैसी ने कहा, ‘किसी को अपनी देशभक्ति के लिए सिनेमा हॉल में खड़े होने की जरूरत नहीं है। कौन कितना देशभक्त है इसका पता इससे बिल्कुल भी नहीं लग सकता।’बता दें कि राष्ट्रगान मामले की सुनवाई के दौरान सोमवार को उस वक्त नया मोड़ आ गया, जब सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि देशभक्ति साबित करने को सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान के दौरान खड़े होने की जरूरत नहीं है। अदालत ने केंद्र सरकार से कहा कि वह सिनेमाघरों में राष्ट्रगान बजाने को नियंत्रित करने के लिए नियमों में संशोधन पर विचार करे

Facebook Comments
SHARE