बरेली।उत्तर प्रदेश में जहाँ भाजपा सरकार में धार्मिक कट्टरता बढ़ रही है वहीं आज एक नया मामला सामने आया नगर पंचायत सिरौली की चेयरमैन ममता पांडे का जिन्होंने हिन्दू धर्म छोड़कर इस्लाम धर्म अपना लिया है। ममता पांडे ने अपना नाम बदलकर सबा खान रख लिया है। ममता पांडे ने एक वीडियो जारी कर इस्लाम धर्म अपनाने की जानकारी दी है। ममता पांडे ने बताया कि उसने इसलाम धर्म अपने परिजनों के उत्पीड़न से तंग आकर अपनाया है। 

नेताओं से लगाई गुहार

 ममता पांडे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और डिपंल यादव से मदद की गुहार लगाई है।ममता पांडेय को पांच वर्ष पहले सिरौली से नगर पंचायत चेयरमैन चुना गया था। उनका आरोप है कि उनके परिवार वाले लगातार उन पर अनैतिक कार्य करने के लिए दबाव बनाते रहे हैं। अपने पति से आहत होकर ममता पांडेय ने एक साल पहले अपना घर छोड़ दिया और बरेली जाकर किराए के मकान में रहने लगी लेकिन उनके घर वाले उसे प्रताणित करते रहे और उनको घर में बंधक बना कर रखा गया। ममता का कहना है कि उनके पास उत्पीड़न के सारे सबूत हैं। इन्हीं सब से तंग आकर उन्होंने इस्लाम धर्म स्वीकार कर लिया है।

चुनाव की तैयारी में जुटी हैं ममता

फिलहाल समाजवादी पार्टी की कद्दावर नेता और निवर्तमान चेयरमैन ममता पांडेय अब सबा खान हो गईं हैं और एक बार फिर सिरौली नगर पंचायत से चुनाव लड़ने की तैयारी में लगी हुई हैं। क्या जनता उनको दोबारा मौका देगी। बड़ा सवाल है। इधर उनके पति सुरेश पांडेय कुछ भी कहने से बचते नजर आ रहे हैं।

चुनावी स्टंट तो नही है यह परिवर्तन?

निकाय चुनाव का ऐलान बहुत जल्दी होने वाला है ऐसे मौके पर किसी राजनितिक व्यक्ति का ज़िन्दगी का इतना बड़ा फैसला लेना अपने साथ कई सारे प्रशन चिन्ह उठा देता है।इसके बारे में कोई भी नही बता सकता कि ममता पाण्ड्य सिर्फ दिखावे के लिये मुसलमान हुई हैं या पूरी श्रद्धा और आस्था के साथ मुसलमान हुई हैं।

Facebook Comments
SHARE