नई दिल्ली – भारत के सबसे मशहूर वकील और पूर्व केन्द्रीय मंत्री राम जेठमलानी ने इस्लाम और पैगंबर ए इस्लाम के बारे में एक महत्वपूर्ण बयान दिया है।रामजेठमलानी ने कहा कि वे क़ुरआन पाक के छात्र हैं और अंतिम सन्देष्टा पैगंबर ए इस्लाम हज़रत मोहम्मद सल्लाहु अलैही वसल्लम के प्रशंसक हैं। उन्होंने ये बातें एक कार्यक्रम में अलजेब्रा, कला और विचार क्लब में सेक्यूलरिज्म के बारे में बात करते हुए कही।
तमाम धर्मों को पढा है,हज़रत मोहम्मद साहब सबसे महान हैं

रामजेठमलानी की गिनती देश के दस बड़े वकीलों में होता है,और पूरा देश उन्हें बड़े सम्मान और आदर के साथ देखता है,मलानी ने कहा कि मैंने वकील होने के नाते तमाम धर्मों की किताबें पढ़ी हैं, उन्होंने कहा कि मैंने बोद्ध धर्म, हिन्दू धर्म, यहूदी धर्म और इसाई धर्म के धार्मिक ग्रंथ पढ़े हैं। उन्होंने कहा मैंने इस्लाम का भी अध्ययन किय है। उन्होंने कहा मैं पैगंबर ए इस्लाम में पूरी आस्था रखता हूं। उन्होंने कहा कि पैगंबर ए इस्लाम इस दुनिया के सबसे महान पैगंबर हैं।

राम जेठमलानी के यह बात कहते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होरहा है,हमें पता लगा है कि यह वीडयो कुछ महीने पुराना है जो अब यूट्यूब पर लाखो लोग इसको देख चुके हैं, इस वीडियो में राम जेठ मलानी सेक्यूरिज्म पर बोल रहे थे, लेकिन वे सेक्यूलरिज्म से शुरु होकर इस्लाम पर बोलने लगे और फिर उन्होंने कहा कि वे हिन्दू हैं इसके बावजूद उन्होंने इस्लाम का अध्ययन किया है। राम जेठमलानी इसी वीडियो में ट्रिपल तलाक भी जिक्र किया कि उन्होंने कहा कि ट्रिपल इशू के दौरान उन्हें इस्लाम का और अध्ययन करने का मौका मिला था।

देखें वीडियो

वरिष्ठ अधिवक्ता राम जेठमलानी राम जेठ मलानी ने कहा कि उन्हें इस्लाम की कई चीजें सम्मोहित करती हैं, उन्होंने कुरान की शिक्षाओं पर भी रौशनी डाली। बता दें कि राम जेठमलानी सुप्रिम कोर्ट वरिष्ठ वकील रहे हैं वे भारत के कानून मंत्री भी रहे हैं, राम जेठमलानी पाकिस्तान के शिकारपुर जो सिंध प्रांत में आता है वहां पैदा हुऐ थे बंटावारे के दौरान भारत आये थे।

Facebook Comments
SHARE