नई दिल्ली –  अंग्रेजी अखबार डेली मेल की खबर के मुताबिक, दो साल पहले 15 अप्रैल 2015  को यूनाइटेड स्टेट्स के लेक्सिंग्टन (केंटकी) में एक युवक की हत्या कर दी गई थी।

यह हत्या तब की गई थी जब मृतक लोगों के घर पिज्जा की डिलीवरी करके वापस लौट रहा था, हत्या करने वाले युवकों ने पहले तो उसके साथ लूट पाट की और उसके बाद उसकी हत्या कर दी गई। मृतक युवक का नाम सलाहुद्दीन था, बीते मंगलवार को इस मामले में सलाहुद्दीन के पिता डॉ. जितमौद ने अपने बेटे के को याद करते हुए उसके कातिल को माफ कर  दिया। इस दौरान सलाहुद्दीन के पिता ने कहा कि, ‘किसी को माफ करना इस्लाम में सबसे बड़ा है।’

मृतक सलाहुद्दीन की हत्या करने वाला शख्स ट्रे रेलफोर्ड ड्रग्स लेता था, इसी लत की वजह से उसने सलाहुद्दीन की हत्या कर दी थी, सलाहुद्दीन के पिता डॉ. जितमैद ने अपने बेटे को याद करते हुए कहा कि उनका बेटा पढ़ाई में भी बहुत होशियार था, उसे लेखन और प्रोडक्शन का बहुत शौक था, उन्होंने बताया कि उनके बेटे की हत्या उस वक्त हुई जब उसे एक और पिज्जा कहीं पर पहुंचाना था, इसके बाद वह घर लौट जाता, लेकिन इसी बीच उसकी हत्या कर दी गई और वह घर से हमेशा के लिये चला गया।

उन्होंने अदालत में एक भावुक स्पीच देते देते हुए कहा कि वे ट्रे रेलफोर्ड को अपने बेटे का कातिल नही मानते। डॉ. जितमैद ने कहा, ‘मुझे तो उस हैवान के ऊपर गुस्सा आ रहा है जिसने तुमसे ये काम करवाया।’ अपने बेटे के कातिल को माफ कर देने की डॉ. जितमैद की इस बात की चारों तरफ नम आंखों के साथ प्रशंसा हो रही है।

सलाहुद्दीन की हत्या करने वाले रेलफोर्ड की मां ने भी डॉ. जितमैद का शुक्रिया अदा किया है, उन्होंने अदालत में बताया कि कि किस तरह उनका बेटा ट्रे रेलफोर्ड ड्रग्स के चक्कर में पड़कर गलत रास्ते पर चला गया था। सलाहुद्दी के पिता डॉ. जितमैद का शुक्रिया अदा करते हुए उन्होंने कहा कि ‘मैं आपके बेटे की मौत के लिए बहुत दुःखी हूं, उन्होंने कहा कि  मैं इसकी पूरी जिम्मेदारी लेती हूं। ट्रेरेलफोर्ड की मां ने कहा कि मैं आशचर्यचकित हूं कि आपने मेरे बेटे को मुआफ कर दिया।

देखें  वीडियो

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=2057782501122236&id=1716482341918922

सलाहुद्दी की हत्या करने वाले ट्रे रेलफोर्ड के पास सिवाय पछतावे के और कुछ नहीं था, उसने सलाहुद्दी के पिता से कहा कि मैं उस दिन के लिये माफी मांगता हूं, उसने कहा कि मैं आपके गमों, और दुःखों की कल्पना भी नहीं कर सकता, और मैं कुछ कर भी नहीं सकता। ट्रे रेलफोर्ड ने कह कि आपने मुझे माफ किया इसके लिये मैं आपका शुक्रिया अदा करता हूं।

बता दें कि सलाहुद्दीन की हत्या के मामले में ट्रेरेलफोर्ड ने दो और लोगों को गिरफ्तार किया था, लेकिन अदालत ने इस मामले में सिर्फ ट्रेरेलफोर्ड को ही दोषी माना था, और उसे सजा सुनाई थी

Facebook Comments
SHARE