लखनऊ:उत्तर प्रदेश में निकाय चुनाव का बिगुल बज चुका है,हर पार्टी वोटरों से नये वादे और नये नारों के साथ मिल रही है,उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी चुनाव प्रचार प्रचार अभियान की शुरुआत करते हुए सालो पुराना मुद्दा राम मंदिर को हवा देने का काम किया है।योगी ने कहा है कि भगवान राम के बगैर भारत में कोई काम नहीं हो सकता है। राम हमारी आस्था के प्रतीक हैं। देश की पूरी आस्था के केंद्र बिंदु भगवान राम हैं।

अयोध्या में प्रचार अभियान के दौरान योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या विवाद सुलझाने के लिए आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर की पहल की भी सराहना की। उन्होंने कहा कि किसी भी स्तर पर बातचीत से विवाद को सुलझाने के प्रयास की तारीफ की जानी चाहिए।

जय श्रीराम से भाषण का आगाज

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि अयोध्या की अपनी पहचान है। सात पवित्र नगरियों में पहली पुरी है, अयोध्या जहां पहली बार नगर निगम का चुनाव है। इसलिए पहली सभा भी अयोध्या में हो रही है। हम अयोध्या में हैं, अयोध्या के अनुरूप जयघोष भी होना चाहिए। जय श्रीराम से भाषण का आगाज हुआ।

यूपी बीजेपी के अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय ने कहा कि सबसे पहले योगीजी को बधाई। उन्होंने मुख्यमंत्री बनते ही हमारे दो आस्था केंद्रों अयोध्या और मथुरा में नगर निगम की स्थापना की। देश को राष्ट्रीय विचारों का संदेश देने का केंद्र अयोध्या है, इसलिए हमने पहली सभा अयोध्या में चुनी।

Facebook Comments
SHARE