दारुल उलूम के संस्थापक मौलाना क़ासिम नानोतवी के पड़पोते और क़ासमी परिवार के एहम चश्मा ओ चराग, प्रसिद्ध विद्वान मौलाना मोहम्मद असलम कासमी का अभी कुछ देर पहले देवबंद में निधन हो गया है। मौलाना काफी दिनों से बीमार चल रहे थे,काफी लम्बे समय से उनका इलाज चल रहा था, 87 साल की उम्र में दुनिया को छोड़ दिया।
मौलाना मोहम्मद असलम कासमी का नाम इल्म की दुनिया में एक बड़ा और ऐतिहासिक नाम था, तो दारुल उलूम देवबंद के संस्थापक मौलाना मुहम्मद कासिम नानातवी के पड़पोते और दारुल उलूम देवबंद के सार्वभौमिक प्रतिष्ठा दिलाने वाले क़ारी मोहम्मद तय्यब रह. के दूसरे पुत्र थे, मोलाना असलम दारूल उलूम वक्फ देवबन्द में बड़ी किताबें पढ़ाया करते थे।मोलाना असलम रह को दारुल उलूम के लोकप्रिय शिक्षकों में से थे। । इल्मी दुनिया में लोकप्रियता के कारण हजारों अनुयायी दुनिया भर में फैले हुए हैं।

Facebook Comments
SHARE