नई दिल्ली: दुनिया के सात अजूबों में शुमार,शाहज़हां के प्यार की निशानी,मुमताज़ के मक़बरे ताजमहल पर आज यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंचे. यहां वह ताजमहल के बाहर बनी पार्किंग में सफ़ाई अभियान का हिस्सा बने. इसके अलावा मुख्यमंत्री आज शाहजहां पार्क भी जाएंगे, और मुगल म्यूज़ियम का दौरा भी करेंगे,इसके बाद आगरा में ही एक रैली को भी संबोधित करेंगे. ऐसा नहीं है कि सीएम बनने के बाद वह पहली बार आगरा आए हों आगरा में ये उनका दूसरा दौरा है, लेकिन इस बार वह ताज भी देखने पहुंचे हैं, हालांकि इसके पीछे एक वजह डैमेज कंट्रोल भी मानी जा रही है.

योगी आदित्यनाथ ने कहा था ताजमहल भारतीय तहज़ीब का हिस्सा नही

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि ताजमहल भारतीय संस्कृति का प्रतीक नहीं, यही नहीं यूपी सरकार की टूरिज़्म बुकलेट से इसे हटाए जाने की खबरें भी आईं हैं, फायर ब्रिगेड नेता सरधना से बीजेपी विधायक संगीत सोम ने इसे भारतीय इतिहास पर धब्बा करार दे दिया था ताजमहल पर चल रहे इन तमाम विवादों को लेकर पूरे देश से जब तीखी प्रतिक्रिया आने शुरू हो गई तो कहीं न कहीं यूपी सरकार भी बैकफुट पर आ गई जिस कारण आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ताजमहल का दीदार करने के लिए पहुंचना पड़ा.

विवादित बयानों के बीच मुख्यमंत्री का दौरा महत्वपूर्ण है

गौरतलब है कि इन दिनों ताज महल अनेक विवादास्पद बयानों के कारण काफी चर्चा में है. ऐसे समय में योगी आदित्यनाथ का यह दौरा बहुत महत्वपूर्ण है. सबसे पहले पर्यटन विभाग की पुस्तिका में ताजमहल को शामिल नहीं किए जाने को लेकर विवाद उठा था. इसके बाद बीजेपी विधायक संगीत सोम ने इस ऐतिहसिक भवन को भारतीय संस्कृति पर ‘धब्बा’ बता दिया जिससे नया विवाद पैदा हो गया. बीजेपी के राज्यसभा सांसद विनय कटियार ने ताजमहल को ‘तेजो महालय’ कहकर इस विवाद को और हवा दे दी. इसी बीच समाजवादी पार्टी के नेता व पूर्व मंत्री आजम खान ने कहा कि अगर योगी सरकार ताजमहल को तुड़वाने की पहल करती है, तो वह इसका समर्थन करेंगे. एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने भी संगीत सोम के बयान पर तीखा व्यंग्य किया था

Facebook Comments
SHARE