भदोही – उत्तर प्रदेश में जहाँ एक तरफ हिन्दुवादी संगठनघर वापसी प्रोग्राम चला रहे हैं वहीं एक खबर दूसरी तरफ हिन्दूवादी संगठन के हिन्दू धर्म त्याग करने की आरही है।जो हिन्दू धर्म को छोड़कर दुसरा धर्म अपना रहे हैं।पिछले दिनों उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने भी धमकी दी थी कि वे हिन्दू धर्म छोड़ देंगी, उनकी इस धमकी के अगले ही दिन यूपी के भदोही जिले के कसिदहां दलित बस्ती में धर्मांतरण की घटना सामने आई है।
300 हिन्दुओं ने धर्मान्तरण किया

अमर उजाला की खबर के मुताबिक जिले की कसिदहां बस्ती में  300 लोगों के हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म अपना लिया है। दलितों द्वारा किये गये इस सामूहिक धर्मांतरण के कार्यक्रम ने सूबे में सत्तारूढ़ भाजपा समेत कई हिंदू संगठनों को हिलाकर रख दिया है। इस घटना के बाद भाजपा जिलाध्यक्ष समेत कई हिन्दुवादी संगठनों के पदाधिकारियों ने इस बस्ती में पहुंचकर धर्म परिवर्तन करने वाले लोगों को समझाया।

नेताओं को झेलना पड़ा विरोध

धर्म परिवर्तन करने वाले लोगों को समझाने गये भाजपा नेताओं को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। बस्ती में लोगों को गुस्सा देख किसी तरह हिन्दुवादी संगठनों के लोगों और भाजपा के नेताओं ने मामले को संभालने की कोशिश की। उन्होंने दलितों को दिलासा देते हुए कहा कि भाजपा ने ही दलित भाजपा ने ही दलित समाज के रामनाथ कोविंद को देश का राष्ट्रपति बनाया।

दिया बस्ती के हालात सुधारने का आश्वासन

धर्म परिवर्तन करने वाले दलित समुदाये के लोग लगतार हो रही उनकी बस्ती की अनदेखी से नाराज थे, जिन्होंने इसी नाराजगी के कारण बोद्ध धर्म अपना लिया। उनकी ‘घर वापसी’ करने गये लोगों ने उन्हें दिलासा दिया कि हिंदू धर्म का ही हिस्सा बौद्ध धर्म है। उन्होंने दावा किया कि बस्ती में 16 हैंडपंप रिबोर कराने की संस्तुति सीडीओ ने दे दी है। प्रधानमंत्री आवास समेत अन्य विकास कार्य जल्द ही शुरू कराए जाएंगे

Facebook Comments
SHARE